सभी श्रेणियां
क्या मैं गर्भवती हूँ
गर्भावस्था - की सप्ताह दर सप्ताह गाइड
गर्भवती हो रही है
गर्भावस्था आहार
सूचियां करने के लिए गर्भावस्था
एक बेबी शावर की योजना बना रहा है
शिशु का जन्म
गर्भावस्था व्यायाम

तीसरे ट्राइमेस्टर में गर्भावस्था के दौरान लिए जाने वाले आहार

तीसरे ट्राइमेस्टर में, आपके शिशु की वृद्धि तेज़ हो जाएगी क्योंकि उसका वज़न बढ़ने लगता है, और आपको अपनी ऊर्जा स्तर को बढ़ाने के लिए सही भोजन खाना होगा। आपको पौष्टिक भोजन लेना जारी रखना होगा ताकि शिशु की वृद्धि के लिए आपके शरीर को सभी ज़रूरी पोषकतत्व मिलते रहें। शिशु के जन्म के बाद आपके शरीर का अच्छी तरह से ठीक होने के लिए आपका भोजन विटामिन ‘के’ से भरपूर होना चाहिए।

Trimester one diet plan

गर्भावस्था के दौरान सही भोजन लेना आपकी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और मूड बिगड़ने की समस्या को परे रखता है जिससे सुखद और स्वस्थ गर्भावस्था का अनुभव लिया जा सकता है। इस बात की सलाह दी जाती है कि आप कोई सप्लीमेंट प्रोग्राम (पूरक कार्यक्रम) अपनाने या अपने आहार में बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर अथवा मान्यताप्राप्त स्वास्थ कर्मी से सलाह लें।

रोचक आलेख

गर्भावस्था 02/12/2019

गर्भावस्था का पहला त्रैमासिक

पहले त्रैमास के कम से कम आधे हिस्से तक, ज्यादातर महिलाओं को यह एहसास भी नहीं होता कि वे गर्भवती हैं। भले ही यह समझ में नहीं आता है कि हम गर्भधारण होने के पहले सप्ताह से गर्भावस्था के सप्ताहों की गिनती करते हैं, परन्तु अनुमान लगाने का एकमात्र तरीका यही है। पहला त्रैमास जबरदस्त विकास का समय होता है। इस श्रृंखला में, हम इस महत्वपूर्ण त्रैमास में 13 सप्ताहों में से प्रत्येक को देखेंगे और देखेंगे कि यह छोटा है, लेकिन आपके भ्रूण के जीवन की संभावनाओं को अनुकूलित करने के लिए महत्वपूर्ण नींव इसी में रखी जा रही है।

गर्भावस्था 02/12/2019

गर्भावस्था का तीसरा त्रैमासिक

गर्भावस्था के 12 सप्ताहों के पूरा हो जाने पर , बच्चे का शरीर पूरी तरह से गठित हो जाता है और वह एक छोटे मानव की तरह दिखाई देता है। इसका सिर अपने शरीर के बाकी हिस्सों से आनुपातिक रूप से बड़ा होता है और चेहरे की विशेषताएं पहचानने योग्य हो जाती हैं। दूसरे त्रैमास में शरीर के महत्वपूर्ण अंगों और तंत्रिका तंत्र का विकास अधिक परिपक्व हो जाता है।

गर्भावस्था 02/12/2019

16 हफ्ते का गर्भ है?

यह अभी भी आपकी गर्भावस्था में एक आरंभिक अवस्था है, पर अबसे आपका पूरा ध्यान आपके शिशु पर होता है। पर आपको खुद का ध्यान रखने की भी ज़रूरत होती है, इसलिए यदि आपने विशेष प्रकार के ब्लड टेस्ट न करवाएं हों, तो अपने प्रसूति रोग विशेषज्ञ से मिलें,...

विषय के साथ आलेख