सभी श्रेणियां
क्या मैं गर्भवती हूँ
गर्भावस्था - की सप्ताह दर सप्ताह गाइड
गर्भवती हो रही है
गर्भावस्था आहार
सूचियां करने के लिए गर्भावस्था
एक बेबी शावर की योजना बना रहा है
शिशु का जन्म
गर्भावस्था व्यायाम

गोदभराई (बेबी शॉवर) के लिए क्या करें और क्या न करें

आजकल गोदभराई एक सामान्य पारिवारिक/दोस्ताना मिलन-समारोह से कहीं अधिक बढ़कर है। एक मेज़बान के नाते आपको गहराई से इसकी तैयारी करनी होती है, गोदभराई की योजना बनानी पड़ती है जो एक मनमोहक थीम से सजी हो और उसमें गेम्स हों, साथ में खान-पान और थैंक यू गिफ़्ट हो। कार्यक्रम की योजना बनातेने समय आपा खोना काफी आसान होता है, हालांकि नई माँ की आवश्यकताओं और नज़रिए को ध्यान में रखना और ऐसीसे गोदभराई की योजना बनाना ज़रूरी होता है, जो माँ के लिए वाकई मजेदार साबित हो।  

यहाँ गोदभराई के लिए करने और न करने योग्य चीज़ों की सूची दी गई है, जो आपको एक सफल बेबी शॉवर पार्टी आयोजित करने में मदद कर सकती है। 

गोदभराई के नियम:

होने वाले शिशु के पिता और उनके सबसे अच्छे दोस्तों को आमंत्रित करें

 होने वाला पिता उतना ही महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि क्योंकि वह आनंद और नई जिम्मेदारियों से भरे पितृत्व के लिए अपनी यात्रा प्रारंभ करता है। इसलिए, गोदभराई में उसे और उसके सबसे अच्छे दोस्तों को शामिल करना न भूलें। उनकी उपस्थिति से कार्यक्रम बेशक एक आनंदकारी मिलन-समारोह बन सकता है। 

गोदभराई के दौरान अपने उपहार खोलें

सामान्यतः शिशु के कपड़े और चीज़ें प्यारे और आकर्षक लगते हैं। हम उन्हें नजरअंदाज़ नहीं कर सकते हैं। इसलिए खुशी को दोगुना करें और गोदभराई के दौरान मौजूद अपने मेहमानों के साथ अपने सभी तोहफे खोलकर खुशियों की झड़ी लगा दें। 

इसे होने वाली माँ के लिए सरप्राइज़ बनाएँ।

होने वाली माँ से गोदभराई की तिथि के बारे में पहले से ही बात कर लें।। जाहिर है आप नहीं चाहेंगे कि होने वाली माँ इस बड़े कार्यक्रम में थकी-हारी हालत में आए।। 

इसे छोटा रखें और यादगार बनाएँ

ऐसी गोदभराई की योजना बनाएँ जो छोटी, प्यारी, सरल और यादगार हो। मिलन-समारोह प्रायः घंटों तक चलते रहते हैं। परन्तु, विवेक से काम लें और होने वाली माँ को ध्यान में रखें।। लंबी चलने वाली पार्टियाँ होने वाली माँ को थका सकती हैं और शारीरिक रूप से असहज बना सकती हैं।

भोजन की बजाए हल्के-फुल्के नाश्ते का प्रबंध रखें

आसानी से  खाए जा सकने वाले नाश्ते परोसना ज्यादा आसान होगा, जैसे कि केक्स, सैंडविच, कीशेज़, स्कोंस इत्यादि, क्योंकि उन्हें साफ करने में कम मशक्कत करनी पड़ती है।और क्या करना चाहिए? आपके मेहमान आस-पास चलने-फिरने के लिए स्वतंत्र होने चाहिए और वे अपनी गोद में प्लेट और चम्मचों को संभालने में ही नहीं लगे होने चाहिए।। 

शराब परोसें

गोदभराई पर शराब परोसने से बचें।कल्पना कीजिए कि अपने पिए हुए मेहमानों को संभालना और शांत करना की  कितना मुश्किल भरा काम होगा!   

बहुत अधिक लोगों को आमंत्रित करें

अपने मेहमानों की सूची को छोटी रखें, क्योंकि गोदभराई एक भावनापूर्ण निजी समारोह होता है।। बहुत अधिक मेहमानों के जुटने का अर्थ होता है अनियंत्रित शोर और गतिविधियों का पैदा होना, जिससे होने वाली माँ को थकावट का अनुभव हो सकता है। 

अप्रिय एहसास वाले गेम्स खेलें

गेम्स दरअसल ऐसी चीज़ होते हैं, जो माहौल को खुशनुमा बनाते हैं। ऐसे गेम्स खेलने से बचें जो होने वाली माँ को शर्मिंदा करें।साथ ही,  ऐसे गेम्स की योजना बनाएँ जिनमें होने वाली माँ को सक्रिय रूप से भाग लेने का मौका मिले।  माँ बनने के एहसास के लिए बधाई!

 

रोचक आलेख

गर्भावस्था 02/12/2019

गर्भावस्था का पहला त्रैमासिक

पहले त्रैमास के कम से कम आधे हिस्से तक, ज्यादातर महिलाओं को यह एहसास भी नहीं होता कि वे गर्भवती हैं। भले ही यह समझ में नहीं आता है कि हम गर्भधारण होने के पहले सप्ताह से गर्भावस्था के सप्ताहों की गिनती करते हैं, परन्तु अनुमान लगाने का एकमात्र तरीका यही है। पहला त्रैमास जबरदस्त विकास का समय होता है। इस श्रृंखला में, हम इस महत्वपूर्ण त्रैमास में 13 सप्ताहों में से प्रत्येक को देखेंगे और देखेंगे कि यह छोटा है, लेकिन आपके भ्रूण के जीवन की संभावनाओं को अनुकूलित करने के लिए महत्वपूर्ण नींव इसी में रखी जा रही है।

गर्भावस्था 02/12/2019

गर्भावस्था का तीसरा त्रैमासिक

गर्भावस्था के 12 सप्ताहों के पूरा हो जाने पर , बच्चे का शरीर पूरी तरह से गठित हो जाता है और वह एक छोटे मानव की तरह दिखाई देता है। इसका सिर अपने शरीर के बाकी हिस्सों से आनुपातिक रूप से बड़ा होता है और चेहरे की विशेषताएं पहचानने योग्य हो जाती हैं। दूसरे त्रैमास में शरीर के महत्वपूर्ण अंगों और तंत्रिका तंत्र का विकास अधिक परिपक्व हो जाता है।

गर्भावस्था 23/01/2020

पुरुष और महिला उर्वरता-अंतर पहचानें

पुरुष उर्वरता की बुनियादी बातें पुरुष उर्वरता की समस्याओं के सबसे आम कारण वे होते हैं जिनमें वृषणों में शुक्राणुओं के उत्पादन में खराबी आ जाती है या जनन नलियों में से कोई नली बाधित हो जाती है। शुक्राणुओं को अपनी प्रारंभिक अवस्था से...

विषय के साथ आलेख