सभी श्रेणियां
क्या मैं गर्भवती हूँ
गर्भावस्था - की सप्ताह दर सप्ताह गाइड
गर्भवती हो रही है
गर्भावस्था आहार
सूचियां करने के लिए गर्भावस्था
एक बेबी शावर की योजना बना रहा है
शिशु का जन्म
गर्भावस्था व्यायाम

उर्वरता निगरानी यंत्र के बारे में

यदि आप गर्भ धारण करने का प्रयास कर रही हैं तो अपने अंडोत्सर्ग चक्र के बारे में अधिक से अधिक जानकारी हासिल करने और अहम फ़र्टाइल दिनों की पहचान करने से आपको अपने गर्भ धारण करने वाले सबसे संभावित दिनों का अंदाजा लगाने में मदद मिल सकती है।

कई महिलाओं के लिए उर्वरता निगरानी यंत्र का इस्तेमाल करने से गर्भ धारण करने की प्रक्रिया अधिक सुगम हो जाती है।यौन संबंध बनाने का सबसे अच्छा समय अंडोत्सर्ग (ऑव्युलेशन) के बाद 12 से 48 घंटे का होता है। इस तरह, शुक्राणु के पास फैलोपियन नली तक पहुंचने और अंडाशय से निकले अंडे से संयोजित होने का समय मिल जाता है।

अंडोत्सर्ग-पश्चात शरीर के तापमान में वृद्धि की निगरानी जैसी कई तकनीकों के विपरीत, उर्वरता निगरानी यंत्र का इस्तेमाल करने से अंडोत्सर्ग की संभावना वाले अहम 2 दिनों की पहचान की जा सकती है जिससे गर्भवती होने की संभावना काफी बढ़ जाती है।

यहाँ आपके लिए कुछ ऐसे प्रश्न के जवाब हैं जो अक्सर पूछे जाते हैं

उर्वरता निगरानी यंत्र कैसे काम करता है?

  • उर्वरता निगरानी यंत्र एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो आपकी फ़र्टाइल अवधि की पहचान करने में मदद करता है। सामान्यतः ये छोटे, पोर्टेबल, बैटरी-चालित उपकरण होते हैं, जो फ़र्टिलिटी टेस्ट के नतीजों का विश्लेषण करते हैं।
  • बाजार में उर्वरता निगरानी यंत्र के एकाधिक ब्रांड्स और प्रकार हैं पर सबसे सरल ब्रांड वह होगा जिसमें पेशाब में आने वाले हॉरमोनों के आकलन के लिए प्रयुक्त एक टेस्ट-स्टिक के विश्लेषण के समय एक लाल या हरा लाइट दिखाई पड़ेगा।
  • अन्य अधिक जटिल उर्वरता निगरानी यंत्र समय के साथ कई मापों को रिकॉर्ड करता है (पेशाब टेस्ट-स्टिक्स, तापमान या थूक) और तब आपकी सबसे संभावित फ़र्टाइल अवधि की जानकारी देते हैं।
  • उर्वरता निगरानी यंत्र द्वारा प्रयुक्त सबसे सामान्य विधि है डिस्पोजेबल टेस्ट-स्टिक्सजिसे मूत्र में डुबोकर हॉर्मोन्स स्तरों, ख़ासकर LH (ल्युटिनाइजिंग हॉर्मोन)का पता लगाया जाता है।
  • कई उर्वरता निगरानी यंत्र अंडोत्सर्ग के कुछ घंटों के बाद शरीर के तापमान में होने वाली वृद्धि की पहचान के लिए थर्मोमीटर का इस्तेमाल करते हैं।
  • कुछ उर्वरता निगरानी यंत्र थूक में मौजूद हॉर्मोन स्तरों को मापते हैं।फ़र्निंग पैटर्न को मापकर या यहाँ तक कि थूक के इलेक्ट्रिकल रेसिस्टेंस को मापकर भी संपन्न किया जा सकता है।

फ़र्टिलिटी मॉनिटर कैसे काम करता है?

  • अंडोत्सर्ग होने के बाद, अंडा केवल 12 और 36 घंटों तक की अवधि तक ही जीवनक्षम होता है। उर्वरता विशेषज्ञों का सुझाव है कि अंडोत्सर्ग के 2 दिन पूर्व, या अंडोत्सर्ग होने के ही समय यौन सबंध बनाना चाहिए, जिससे आपको गर्भ धारण करने की बेहतर संभावना मिलती है।
  • अंडोत्सर्ग का प्रारंभ शरीर में कई प्रकार के हॉर्मोनों के स्तरों में वृद्धि होने से होता है, जिनमें एस्ट्रोजन और ल्युटिनाइजिंग हॉर्मोन (LH) भी शामिल होते हैं। हॉर्मोनों के स्तरों में यह वृद्धि अंडे के निकलने के कुछ दिन पूर्व होती है और इसे शरीर में मौजूद कुछ तरल पदार्थों में होने वाले बदलावों से जाना जा सकता है।
  • कुछ उर्वरता निगरानी यंत्र आपके शरीर में इन हॉर्मोनों में से एक या दोनों के स्तरों को मापते हैं (आपकी थूक या मूत्र की कुछ बूंदों के परीक्षण द्वारा) ताकि आपको पता चल सके कि हॉर्मोन में यह वृद्धि कब होती है।क्या उर्वरता निगरानी यंत्र का इस्तेमाल बर्थ कंट्रोल (जन्म नियंत्रण) के लिए किया जा सकता है?

क्या फ़र्टिलिटी मॉनिटर का इस्तेमाल बर्थ कंट्रोल (जन्म नियंत्रण) के लिए किया जा सकता है?

इसकी सलाह नहीं दी जाती है। भले ही कुछ उर्वरता निगरानी यंत्र 99 प्रतिशत की सटीकता का विज्ञापन करते हों, पर जन्म नियंत्रण के लिए उनका इस्तेमाल करना अनुचित होगा क्योंकि शरीर में शुक्राणु 5 दिनों तक जीवित रह सकते हैं जो किसी उर्वरता निगरानी यंत्र द्वारा पहचानी गई उर्वरता अवधि से अधिक लंबी होती है।

रोचक आलेख

गर्भावस्था 02/12/2019

गर्भावस्था का पहला त्रैमासिक

पहले त्रैमास के कम से कम आधे हिस्से तक, ज्यादातर महिलाओं को यह एहसास भी नहीं होता कि वे गर्भवती हैं। भले ही यह समझ में नहीं आता है कि हम गर्भधारण होने के पहले सप्ताह से गर्भावस्था के सप्ताहों की गिनती करते हैं, परन्तु अनुमान लगाने का एकमात्र तरीका यही है। पहला त्रैमास जबरदस्त विकास का समय होता है। इस श्रृंखला में, हम इस महत्वपूर्ण त्रैमास में 13 सप्ताहों में से प्रत्येक को देखेंगे और देखेंगे कि यह छोटा है, लेकिन आपके भ्रूण के जीवन की संभावनाओं को अनुकूलित करने के लिए महत्वपूर्ण नींव इसी में रखी जा रही है।

गर्भावस्था 02/12/2019

गर्भावस्था का तीसरा त्रैमासिक

गर्भावस्था के 12 सप्ताहों के पूरा हो जाने पर , बच्चे का शरीर पूरी तरह से गठित हो जाता है और वह एक छोटे मानव की तरह दिखाई देता है। इसका सिर अपने शरीर के बाकी हिस्सों से आनुपातिक रूप से बड़ा होता है और चेहरे की विशेषताएं पहचानने योग्य हो जाती हैं। दूसरे त्रैमास में शरीर के महत्वपूर्ण अंगों और तंत्रिका तंत्र का विकास अधिक परिपक्व हो जाता है।

गर्भावस्था 02/12/2019

7 हफ्ते का गर्भ है - क्या उम्मीद की जाए?

चूंकि अब आप आधिकारिक रूप से अपने पहले ट्राइमेस्टर के आधे रास्ते पर हैं, इसलिए खुद को शाबाशी दें। भले ही आपको बहुत अच्छा न लग रहा हो और आप अभी गर्भवती न दिख रही हों, याद रखें कि आपके नन्हे शिशु की वृद्धि के लिए आपका शरीर अतिरिक्त समय तक काम कर...

विषय के साथ आलेख