सामान्य प्रश्न

Question:अपने शिशु के लिए डायपर चुनते समय मुझे क्या देखना चाहिए ?

Answer:

जब आपके शिशु के लिए सही डायपर ढूंढने की बात आती है तो आकृति और फिट सबसे महत्वपूर्ण होता है। यहां कुछ विचार दिए गए हैं ताकि आप सुनिश्चित कर सकें कि आप अपने शिशु को सबसे आरामदायक फिट दे रहे हैं।

  1. सही फिट खोजने में आकार बड़ी भूमिका निभा सकता है। लेकिन आप कैसे बता सकते हैं कि आपका शिशु सही आकार का डायपर पहन रहा है या नहीं रिसाव लाल दाग खाली जगह या एक डायपर जिसका फिट तंग है ये सभी गलत फिट के संकेत हैं। यदि आपका शिशु सर्वोच्च वजन सीमा के करीब है तो डायपर के अधिकतम बेहतर प्रदर्शन के लिए उसे अगले वजन सीमा का चुनने पर विचार करने का समय हो सकता है। समझदारी की बात यह है कि डायपर आपके शिशु की आकृति का होना चाहिए न कि बॉक्स की तरह ( वंडरपैंट्स आजमाएँ )
  2. एक बार जब आप आकार के बारे में निश्चिंत हो जाएं तो सुनिश्चित करें कि डायपर को आपने इस तरह से पहनाया है कि यह रिसाव रोके। यदि डायपर टेढ़ा दिखता है या आपके शिशु को परेशान कर रहा है तो संभव है कि यह ठीक नहीं है। प्रत्येक बदलाव के बाद, आप सुनिश्चित करना चाहते हैं यह और कूल्हों सहित सभी सही स्थानों पर ढका हुआ हो। इन क्षेत्रों का ढका न होने का मतलब है रिसाव या शिशु हो रही है।

Question:मुझे अपने शिशु का डायपर कब बदलना चाहिए

Answer:

आपको अपने शिशु का डायपर नियमित रूप से बदलना चाहिए।डिस्पोजेबल डायपर नमी को अवशोषित करने में अच्छे होते हैं इसलिए संभव है कि आप गीलेपन के सूख जाने तक भी उसे देखने में सक्षम न हों। इसीलिए, यह देखने के लिये कि इसे बदलने का समय हो गया है या नहीं, अपने बच्चे के डायपर को हर दो घंटे में जांचना एक अच्छा विचार है।

एक नियमित अभ्यास के रूप में आप प्रत्येक सुबह, दिन में एक झपकी के बाद, रात में सोने से पहले और मल त्याग के बाद इसे बदल सकते हैं।गीले डायपर को बदलने के लिए आपको शिशु को जगाने की जरुरत नहीं है, बल्कि त्वचा की खुजलाहट से उसके जागने के पहले ही इसे बदलना सुनिश्चित करें।

Question:क्या अपने शिशु का डायपर बदलने से पहले कुछ निश्चित कार्रवाई करनी होगी

Answer:

प्रत्येक बार डायपर बदलने में आप कुछ सरल युक्तियों को अपना कर लाल चकत्ते होना रोक सकते  हैं और हो जाने पर शीघ्र उपचार में मदद कर सकती हैं

  • प्रत्येक बार डायपर बदलने से पहले और बाद में हमेशा अपने हाथ धो लें।
  • शिशु के डायपर जैसे ही गंदे हो जाएँ, दिन के दौरान कम से कम हर 1 से 3 घंटे में और रात के दौरान कम से कम एक बार बदल दें। 
  • गर्म पानी और मुलायम, साफ़ कपड़ा या त्वचा के अनुकूल वाइप से शिशु के नीचे पोंछ लें। डायपर बदलने के दौरान शिशु की त्वचा को रगड़ने से बचें।
  • जब आप शिशु के जननांग क्षेत्र को साफ करते हैं तो हमेशा सामने से पीछे की और पोछें।
  • पुनः डायपर पहनाने से पहले शिशु की त्वचा को हवा में सूखने दें।
  •  खुजली के कारकों को नाजुक त्वचा के संपर्क में आने से रोकने के लिए, यदि बच्चे के नीचे थोड़ा लाल दिखाई देता है तो पेट्रोलियम जेली की एक मोटी परत लगाएं।एक बार लाल चकत्ता हो जाने के बाद, जलन ख़त्म हो जाने तक प्रत्येक बार बदलने पर जिंक ऑक्साइड आधारित क्रीम लगाएं।
  • बेबी या टैल्कम पाउडर का उपयोग करने से बचें जो शिशु की त्वचा और चमड़ी में खुजली पैदा कर सकता है।

Question:मुझे कितने डायपर चाहिए

Answer:

आपका शिशु होने पर आपको बहुत सी चीजें चाहिए, लेकिन वास्तव में केवल कुछ ही आवश्यक होती हैं।आपको भोजन, कपड़े और डायपर चाहिए।बहुत सारे डायपर।उन लोगों के लिए जिन्होंने पहले नवजात शिशु के साथ जीवन का अनुभव नहीं किया है, यह कल्पना करना मुश्किल है कि एक शिशु का डायपर दिन में 10 से 12 बार बदलने की जरुरत होगी।

 

तीन से कम डायपर लेकर घर सेन छोड़ें क्योंकि आप कभी नहीं जानते कि आपको कितने की जरूरत होगी।यहां तक कि यदि आपका बच्चा पेशाब कर चुका है और आपको विश्वास है कि आप के पास पर्याप्त हैं, तो भी कुछ अतिरिक्त पैक कर लेना हमेशा अच्छा रहता है।

डायपर और वाइप्स एक शिशु के साथ जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा हैं।इन आवश्यक वस्तुओं को इकठ्ठा करना सुनिश्चित करें और आप एक अनुभवी पेशेवर की तरह प्रत्येक बार डायपर बदलने के बाद संतोष की साँस लेंगे।