आप अपने बच्चे को बिस्तर गीला करने पर काबू पाने में मदद कर सकते हैं, यहाँ बता रहे हैं, कैसे...

Join Huggies now to receive week by week pregnancy newsletters.
Back to टोडलर केयर पर विशेषज्ञ

आप अपने बच्चे को बिस्तर गीला करने पर काबू पाने में मदद कर सकते हैं, यहाँ बता रहे हैं, कैसे...

2 मिन |

शर्म और अपराधबोध दो प्रमुख भावनाएं हैं जो बहुत से बच्चों में बिस्तर गीला करने से जुड़ी हैं।  शुरुआत में ही माता-पिता के सकारात्मक हस्तक्षेप से आपके बढ़ते बच्चे इस समस्या पर बिना किसी परेशानी के काबू पा सकते हैं। 

Baby Care

बिस्तर गीला करना बचपन की एक आम समस्या है जिसका बच्चे सामना करते हैं  हालांकि गंभीर चिकित्सा स्थिति होने के बावजूद यदि समय पर इससे निपटा नहीं किया जाता है तो यह बढ़ते बच्चों में आत्मसम्मान की समस्या का कारण बन सकता है।

यहां बताया गया है कि बिस्तर गीला करना बच्चों के दिमाग को कैसे प्रभावित करता है

 

 

बिस्तर गीला करने के कुछ दुष्प्रभावों में हीनभावना पैदा करने वाली शर्मिंदगी महसूस करने से लेकर सामाजिक भय तक भी शामिल हो सकता है।

nobedwetting.com, के एक लेख के मुताबिकबेल्जियम में यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल घेंट ने 6 से 16 वर्ष आयु वर्ग के बिस्तर गीला करने वाले 30 बच्चों पर शोध किया और उनका एक निष्कर्ष कहता है कि बिस्तर गीला करने का महत्वपूर्ण मनोवैज्ञानिक प्रभाव हो सकता है।

जैसा कि बाल विकास संस्थान द्वारा देखा गया हैजो बच्चे पांच वर्ष से ऊपर की आयु के हैं, वे आमतौर पर समझते हैं कि वे इस स्थिति का सामना कर रहे हैं और इससे शर्मिंदा होते हैं। नतीजतन वे उन सामाजिक गतिविधियों में शामिल नहीं होते हैं जहां उन्हें किसी बाहरी स्थान पर सोने की आवश्यकता होती है।

Child Care

बच्चों में विफलता की भावना या यहां तक कि साथियों द्वारा पकड़े जाने, छेड़े जाने और अपमानित होने का डर भी पैदा हो सकता है। 

childdevelopmentinfo.com के एक लेख के अनुसार, बच्चे की बिस्तर गीला करने की समस्या पर माता-पिता की प्रतिक्रिया उनके नन्हे बच्चे को गहराई तक प्रभावित कर सकती है।

 

माताएं, अपने बच्चे के बिस्तर गीला करने की  समस्या को अपने आप पर हाबी न होने दें!

आमतौर पर माता-पिता अपने बच्चों की बिस्तर गीला करने पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हैं; हालाँकि, समय बीतने के साथ वे निराशा भी हो सकते हैं, और संयम खो सकते हैं।

यदि आप इस समय इस स्थिति का सामना कर रहे हैंतो अपनी भावनाओं पर काबू रखना अच्छा होगा। याद रखें कि बिस्तर गीला करना बच्चे के नियंत्रण से बाहर है और यह आवश्यक है कि इस समस्या को खत्म करने के लिए अपने बच्चे को समय दें। 

डॉ. हावर्ड बेनेट के अनुसार, जो जार्ज वाशिंगटन यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर में बाल चिकित्सा के नैदानिक प्रोफेसर हैं और ‘वेकिंग अप ड्राई: ए गाइड टू हेल्प चिल्ड्रेन ओवरकम बेडवेटिंग’ के लेखक हैं, वे कहते हैं कि माता-पिता को अपने बच्चे की बिस्तर गीला करने की समस्या को दूर करने के लिए दो महत्वपूर्ण बिन्दुओं को अवश्य ध्यान में रखना चाहिए। 

बिस्तर गीला करना एक आम समस्या है और बच्चों को इसके लिए दंडित नहीं किया जाना चाहिए

रात के समय बच्चे के मूत्राशय और मस्तिष्क के बीच संवाद न होने के कारण बिस्तर गीला होता है।  

वह बताते हैं कि शर्म करने की बजाय माता-पिता को एक सक्रिय ठान लेना चाहिए और वे अपने बाल रोग विशेषज्ञ से परामर्श भी ले सकते हैं। 

यहां बताया गया है कि आप अपने बिस्तर गीला करने वाले बच्चे को इस समस्या से दूर करने में कैसे मदद कर सकते हैं...

ताकि बच्चे इस समस्या के प्रति स्वस्थ दृष्टिकोण विकसित कर सकें, माता-पिता को कम उम्र से ही उन्हें भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक सहयोग देना चाहिए। माता-पिता बच्चों को बहुत जरूरी सहायता देकर उन्हें शर्म और अपराधबोध की भावनाओं को दूर करने में मदद कर सकते हैं। 

डॉ. हॉवर्ड बेनेट healthychildren.org में प्रकाशित अपने एक लेख में कुछ प्रमुख धारणाओं को स्पष्ट करते हैं और माता-पिता को बिस्तर गीला करने वाले अपने बच्चों से निपटने में मदद करने के लिए कुछ रणनीतियों की सिफारिश करते हैं।

अपने बच्चे के साथ बातचीत करें 

जब आपका बच्चा जागने और वाशरूम का उपयोग करने में असमर्थ होता है तब आप अपने बच्चे को समझाएं कि उसके शरीर में वास्तव में क्या हो रहा होता है या इसे स्पष्ट करने के लिए एक विशेषज्ञ की मदद लें।

परिवार के सदस्यों या कहानी की किताब या फिल्म के पात्रों की सकारात्मक कहानियां सुनाएँ जिन्होंने बिस्तर गीला करने पर काबू पाया है। जब आप अपने  बच्चे को विश्वास में ले लेते हैं , तो शर्म और अपराधबोध की भावनाएं कम हो जाती हैं।

Parenting Tips

अपने बच्चे को भावनात्मक सहयोग प्रदान करें

शर्मिंदा करने या दंडित करने के बजायउन्हें समझाएं कि बिस्तर गीला करना सामान्य बात है और कई अन्य बच्चे भी इस समस्या से गुजरते हैं। मध्यरात्रि की दुर्घटनाओं को अनौपचारिक रखना और सुधार को प्रोत्साहित करते रहना उन्हें स्लीप ओवर जैसी  सामाजिक गतिविधियों में शामिल  होने के लिए प्रोत्साहित करें।

बाथरूम जाना उसके सोने की दिनचर्या में शामिल करें

तरल पदार्थ का सेवन करने और पूरे दिन वाशरूम का उपयोग करने की स्वस्थ दिनचर्या सेट करें।सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अपने बच्चे को सोने से पहले, ब्रश करने के बाद और उसके सोने की दिनचर्या के अन्य हिस्सों में वाशरूम का उपयोग करने की आदत डालें।सोने से पहले उसे आखिरी चीज बनाने की कोशिश करें।

Including bathroom visit to bedtime routine

अपने बच्चे को समाधान पर ध्यान केंद्रित करने के लिए प्रोत्साहित करें न कि समस्या पर।

माताएं, अपने बच्चे को बिस्तर गीला करने के बारे में शिक्षित करें और उसे उस पर सकारात्मक कार्रवाई करने में मदद करें। उन्हें अपनी गीली चादरें और कपड़े खुद बदलने के लिए प्रोत्साहित करें। उन्हें पजामा की एक अतिरिक्त जोड़ी और पास में एक बेडशीट रखकर मध्यरात्रि की दुर्घटनाओं के लिए तैयार होने में मदद करें।

यदि समस्या बनी रहती है तो अपने बाल रोग विशेषज्ञ से मिलें और सही समाधान की कोशिश करें।

  • कभी-कभी बच्चे की सहायता करने के आपके सभी प्रयास विफल हो सकते हैं और वह बिस्तर गीला करना जारी रख सकता है।  यहां जानें  कि कब आपको पेशेवर सहयोग की आवश्यकता है। कुछ उपचारों में शामिल है-
  • मूत्राशय नियंत्रण प्रशिक्षण- एक व्यायाम जो बच्चे के मूत्राशय को खींचने और अनुकूलित करने में मदद करता है।
  • नमी अलार्म का उपयोग करना- अलार्म चादर में नमी महसूस होने पर बच्चे को वाशरूम में पेशाब खत्म करने के लिए जगा देता है। 
  • सम्मोहन- अनुसंधान से पता चलता है कि बच्चों को इस तरह के उपचार के चार से छः सत्रों में ही लाभ हुआ है।
  • सहायता समूहों से मदद - ये माता-पिता और बच्चे के लिए राहत भरा तरीका और उम्मीद की किरण दोनों बन सकता है।

माँ, यदि आपके बच्चे को बिस्तर गीला करने की समस्या हैतो बस गहरी सांस लें, अपने आप को जानकारी से लैस करें और जानें कि यह सब आपके बच्चे को परेशानी के चरण से उबरने में मदद करने के लिए रचनात्मक कदमों के साथ आगे बढ़ना है।